जिसका काम, उसी को साजे …

Panchtantra Ki Kahani in Hindi - लकड़ी और बंदर

Panchtantra Ki Kahani in Hindi – लकड़ी और बंदर

गर्मी की कड़कती दोपहरी थी। एक सेठ जी का बंगला बन रहा था। उसी बंगले का Furniture बनाने के के लिए कुछ बढ़ई छीनी – हथौड़ी के माध्‍यम से लकडिया चीर रहे थे।

दोपहर के भोजन का समय हो गया था, इसलिए कुछ बढ़ई छीनी को उसी लकड़ी में फंसाकर भोजन करने चले गए, जिसे काट रहे थे।

थोड़ी देर बाद बंदरों का एक झुण्‍ड खेलते-कूदते उसी जगह पहुँच गया जहां बढ़ई लकडिया चीर रहे थे।

उन बंदरों में एक बंदर बहुत ही शरारती था। जब उसने एक लकड़ी के बीच फंसी छीनी को देखा, तो उसे बड़ा आश्‍चर्य हुआ।

वह शरारती बंदर उस छीनी को उस लकड़ी से निकालने के लिए लकड़ी पर चढ़ कर बैठ गया और वह उस छीनी को लकड़ी से बाहर निकालने के लिए उसे खींचने लगा। लकड़ी बहुत ज्‍यादा फँसी हुई थी, इसलिए बहुत कोशिश करने के बावजूद वह उसे निकाल नहीं पा रहा था। उसे छीनी निकालने के लिए इतनी मेहतन करते देख, बाकी बंदर भी उसका साथ देने लगे।

आखिरकार उनकी मेहनत रंग लाई और छीनी, लकड़ी से बाहर निकल गई, लेकिन जैसे ही छीनी बाहर निकली, उस शरारती बंदर की पूँछ उसी लकड़ी में फंस कर कट गई।

******

इस छोटी सी लघुकथा का Moral ये है कि किसी दूसरे के काम में तब तक हस्‍तक्षेप नहीं करना चाहिए, जब‍ तक कि वह काम स्‍वयं को भी ठीक से न आता हो।

यदि बन्‍दरों ने बढईयों को देखा होता है कि वे किस तरह से छीनी-हथौड़ी का प्रयोग करते हुए लकडि़याँ काट रहे हैं, तो निश्चित ही उन्‍हें पता होता कि जब छीनी, लकड़ी के अन्‍दर फँस जाती है, तब उसे कैसे निकाला जाता है। उस स्थिति में वे भी उसी तरह से छीनी काे निकालने की कोशिश करते और लकड़ी में फँसने की वजह से उस शरारती बन्‍दर की पूंछ नहीं कटती।

******

अच्‍छा लगा हो, तो Like/Share कर दीजिए।

FREE Subscription to get each post on EMail

33 Comments

  1. Jenny M Parmar May 24, 2017
  2. Khushi May 20, 2017
  3. Deepanshu May 5, 2017
  4. MANISH January 6, 2017
  5. Saikiran December 5, 2016
  6. Moulana November 28, 2016
  7. Moulana November 28, 2016
  8. yaseeh November 8, 2016
  9. Rajiv chawery October 22, 2016
  10. Shivanshu October 18, 2016
  11. poornalalitha October 17, 2016
  12. Nitish thakur October 15, 2016
  13. Jaya sree October 13, 2016
  14. aryan October 8, 2016
  15. smit kumar singh October 5, 2016
  16. Bani October 4, 2016
  17. Sai charan October 3, 2016
  18. Raju September 30, 2016
  19. Shiv Shankar basant September 24, 2016
  20. Deepak September 22, 2016
  21. kaju August 26, 2016
  22. varsha motwani August 14, 2016
  23. jaina sriram August 8, 2016
  24. Rohit saxena July 23, 2016
  25. Tejeshwari July 19, 2016
  26. Sanoj kumar bhardwaj July 16, 2016
  27. Manish July 16, 2016
  28. m July 15, 2016
  29. Rajendra Kushwaha July 14, 2016
  30. shaheen tabassum July 5, 2016
  31. simran July 3, 2016
  32. Ashish Pathak June 14, 2016
  33. naveen May 18, 2016

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

| About Us | Contact Us | Privacy Policy | Terms and Conditions |